Ambani-Adani First Deal News: पहली बार अंबानी-अडानी में हुई डील, जानें किस बिजनेस में आए साथ?

Ambani-Adani First Deal News: दो बिजनेस टाइटन्स, गौतम अडानी और मुकेश अंबानी के बीच हालिया सहयोग, भारतीय बिजली क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण विकास का प्रतीक है। अपने संबंधित समूहों के माध्यम से, उन्होंने एक विशेष बिजली परियोजना साझेदारी में प्रवेश किया है, जो ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग के एक नए युग का संकेत है।

अंबानी-अडानी साझेदारी:

इस सहयोग के तहत, अदानी समूह की मुख्य इकाई, अदानी पावर लिमिटेड ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ दीर्घकालिक बिजली खरीद समझौते की घोषणा की है। इस सौदे में 20 वर्षों की अवधि वाली 500 मेगावाट की क्षमता वाली एक विशेष बिजली परियोजना के लिए साझेदारी शामिल है।

20 वर्षों तक हर महीने ₹500 का निवेश करने से लगभग ₹3,80,000 प्राप्त हो सकते हैं!

अडानी का बयान:

अदानी पावर ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में खुलासा दायर किया है, जिसमें खुलासा किया गया है कि यह समझौता उसकी सहायक कंपनी महान एनर्जी द्वारा निष्पादित किया गया है। MEL 2,800 मेगावाट की परिचालन क्षमता का दावा करता है, जिसमें 600 मेगावाट को कैप्टिव इकाई के रूप में विकसित करने की योजना है।

रिलायंस की हिस्सेदारी:

कैप्टिव पॉलिसी के अनुसार, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कैप्टिव इकाइयों में रिलायंस इंडस्ट्रीज की 26% हिस्सेदारी होगी, जो MEL के ₹500 करोड़ मूल्य के इक्विटी शेयरों में ₹50 करोड़ का योगदान देगी। यह व्यवस्था रिलायंस को 500 मेगावाट बिजली हासिल करने की स्थिति में लाती है, जिससे उसका रणनीतिक ऊर्जा भंडार मजबूत होगा

ऑटो स्टॉक ने 5 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड की घोषणा की, क्या आप खरीदेंगे?

BHEL की भागीदारी:

एक अन्य महत्वपूर्ण घटनाक्रम में, अदानी पावर ने भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड(BHEL) को एक महत्वपूर्ण ऑर्डर दिया है। यह ऑर्डर छत्तीसगढ़ में 1,600 मेगावाट क्षमता के रायगड़ा चरण-2 थर्मल पावर प्लांट की स्थापना से संबंधित है, जिसकी अनुमानित लागत ₹4,000 करोड़ है।

स्टॉक प्रदर्शन:

शेयर बाजार में अडानी पावर के शेयरों में जोरदार प्रदर्शन देखने को मिला, जो गुरुवार को ₹527 तक पहुंच गया, जो पिछले दिन के कारोबार से 1% से अधिक की वृद्धि दर्शाता है। 6 दिसंबर, 2023 को स्टॉक ने 52-सप्ताह के उच्चतम स्तर ₹589.30 को छुआ था।

 ये कंपनी को मिला 534 करोड़ रुपये का काम, शेयरों की मची है लूट!

निष्कर्ष:

रणनीतिक गठबंधन बनाकर और प्रमुख परियोजनाओं को आगे बढ़ाकर, अंबानी और अदानी न केवल बिजली क्षेत्र के भविष्य को आकार दे रहे हैं, बल्कि भारत के ऊर्जा परिदृश्य में सहयोग और नवाचार के लिए नए मानक भी स्थापित कर रहे हैं।

यह बड़ी खबरे भी पढे:

FireStoneCenter.org एक वेबसाइट है जो शेयर बाजार से जुड़ी जानकारी प्रदान करती है। इस वेबसाइट का उद्देश्य शेयर बाजार से संबंधित नवीनतम समाचार और जानकारी साझा करना है। हालांकि, इस वेबसाइट द्वारा प्रदान की गई सभी जानकारी केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और निवेश सलाह के रूप में नहीं दी जाती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top